ऊना के ड्राइवर की पंजाब में मामूली कहासुनी पड़ी महंगी, साथियों ने ली जान

Una driver in Punjab said minor hearing was expensive, colleagues killed

पटियाला (पंजाब) के एसएसपी मनदीप सिंह सिद्धू, एसपी (डी) मनजीत सिंह बराड़ ने बताया कि गत बर्ष13 अक्तूबर 2018 को डेयरी फार्म नई पुडा कालोनी पटियाला से एक शव खराब हालत में मिला था। मृत व्यक्ति की पहचान सुखविंदर सिंह (34) निवासी गांव पुना थाना ऊना जिला ऊना हिमाचल प्रदेश के तौर पर हुयी थी। मरने वाले के भाई सुखजीत सिंह ने मौके पर पुलिस को बताया था कि सुखविंदर सिंह गोयल एमजीएस फोकल प्वाइंट नंगल जिला रूपनगर के पास ड्राइवर का काम करता है।

सुखजीत सिंह की माने तो दो अक्तूबर 2018 को वह ट्रक में गैस लोड करके राजपुरा सप्लाई करने गया था उसके बाद में सुखविंदर सिंह वापस ही नहीं लौटा। जब केस की पुलिस ने जब गहराई से जांच की तो सामने आया कि ड्राइवर सुखविंदर सिंह के कत्ल को गोयल एमजी गैस कंपनी नंगल के ड्राइवरों सनिचर लोगन उर्फ छोटू (झारखंड निवासी) और हरजाप सिंह ने अंजाम दिया है, जो कि उस के दोस्त थे । हरजाप सिंह के फरार होने कि बजह से उस की फिलहाल गिरफ्तारी नहीं हो सकी है, जिस की तलाश जारी है।

पुलिस की पूछताछ में गिरफ्तार आरोपी से पूछताछ में पता लगा कि इन तीनों की आपसी में दोस्ती थी और काफी उठना-बैठना था। वारदात से कुछ दिन पहले ही सुखविंदर सिंह का आरोपी ड्राइवरों के साथ किसी मामूली बात पर झगड़ा हो गया था। गिरफ्तार आरोपी सनिचर ने बताया कि सुखविंदर सिंह उसके मकान मालिक के खिलाफ बोलता था। दूसरे आरोपी हरजाप के साथ भी उसका किसी बात पर काफी टाइम से झगड़ा चल रहा था।

अपने दिल में नफरत की भावना के कारण दोनों मिलकर साजिश के तहत दो अक्तूबर 2018 को आल्टो कार में सुखविंदर सिंह के पीछे राजपुरा आए और उसे किसी बहाने से अपनी कार में बैठाकर ले गए। रास्ते में उसे शराब पिलाकर परने से गला घोंटकर हत्या कर दी। बाद में सुखविंदर सिंह की लाश को डेयरी फार्म पटियाला की झाड़ियों में फेंक दिया।

Tarsem Dadhwal

Next Post

हिमाचल प्रदेश सरकार ने गौ सेवा आयोग का किया गठन

Fri Feb 8 , 2019
Himaachal Pradesh sarakaar ne Gauseva aayog ka kiya gathan - आयोग का मुख्य कार्य हिमाचल में गौ वंश को बचाना और सड़कों पर घूम रही बेसहारा गायों को आसरा देना है |
Himachal Pradesh government constituted Cow Service Commission