हिमाचल प्रदेश के जिला कुल्लू के बंजार में बयोठ मोड़ पर गुरुवार शाम चार बजे सवारियों से खचाखच भरी एक ओवरलोड निजी बस अनियंत्रित होकर 500 फीट गहरी खाई में लुढ़कते हुए खड्ड में जा गिरी। इस दुःखद हादसे में 44 लोगों की मौत हो गई है, जबकि 31 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। सूत्रों के अनुसार 39 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि अन्य पांच ने अस्पताल में दम तोड़ दिया। बताया जा रहा है कि जो चालक था इस बस को पहली बार चला रहा था और वह हादसे के वक्त मौके पर बस से कूद गया और फरार हो गया।


Overloading के कारण बस भरी पड़ी थी

हादसे में खाई में गिरने से बस के परखच्चे उड़ गए। जबकि बस की छत अलग होकर पहाड़ी पर ही ऊपर फंस गई, जबकि बस का निचला हिस्सा लुढ़कते हुए खड्ड में जा पहुंचा। स्थानीय लोगों और हादसे में जिन्दा बचे लोगों के अनुसार बस का गिरना इतना खतरनाक था कि टायर भी अलग हो गए थे। वहीँ देखा जाए तो 42 सीटर बस में 75 से ज्यादा लोग सवार थे। अंदर जगह नहीं थी तो छत पर भी सवारियां बैठा रखी थीं। हादसे के बाद घटनास्थल और आसपास भयानक चीख-पुकार मच गई।

स्थानीय लोगों ने की बड़ी मदद

इस बस में स्कूल-कॉलेज के करीब दो दर्जन विद्यार्थी भी सवार थे। जब शोर सुनाई दिया तो आस-पास के गाँव में ये खबर आग कि तरह फैल गयी गाँव के लोग अपने अपने घरों से हादसे वाली जगह पर पहुंचे, और चादर-डंडों से बनाए स्ट्रेचर, पीठ पर लाद घायलों को खाई से निकाला। घायलों को प्राथमिक उपचार के बाद नेरचौक मेडिकल कॉलेज मंडी और क्षेत्रीय अस्पताल कुल्लू रेफर किया गया। पुलिस ने मामला दर्ज कर हादसे के कारणों की छानबीन शुरू कर दी है।

Write A Comment