हिमाचल प्रदेश के जिला मनाली सहित जिला कुल्लू में अब कूड़ा-कचरा नजर नहीं आएगा। प्रदेश सरकार के सहयोग से नगर परिषद मनाली शहर में कूड़ा संयंत्र केंद्र लगाकर स्वच्छता में एक कदम और आगे बढ़ रही है। मनाली में 25 करोड़ की लागत से कूड़ा संयंत्र लगाया जा रहा है। जो कूड़े-कचरे का समाधान करने के साथ-साथ कूड़े से बिजली भी पैदा करेगा।


मनाली में लग रहा है, उच्च तकनीक वाला संयंत्र

कूड़ा संयंत्र केंद्र  प्रतिदिन 30 टन कूड़े से एक मैगावाट बिजली का उत्पादन होगा। नगर परिषद मनाली द्वारा पर्यटन नगरी मनाली में लग रहा यह संयंत्र न केवल मनाली के कूड़े-कचरे का समाधान करेगा बल्कि जिला कुल्लू को स्वच्छ रखने में अपनी अहम भूमिका निभाएगा।

कूड़ा संयंत्र बनाने वाली कंपनी के इंजीनियर सुमित शर्मा ने बताया कि 100 टन कूड़े से प्रतिदिन एक मेगावाट बिजली तैयार होगी। संयंत्र से निकलने वाली राख फैक्टरी को सीमेंट बनाने के लिए दी जाएगी। राख से घर बनाने वाले ब्लॉक भी कंपनी स्वयं बनाएगी। संयंत्र से 21 लोगों को रोजगार मिलेगा।

Author

Write A Comment