धर्मशाला में इन्वेस्टर मीट, निरीक्षण करेगी सरकार

शिमला जिला में प्रदेश सरकार मंत्रिमंडल की आगामी बैठक में एमओयू के निरीक्षण की तैयारी में लगा है।बैठक में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने अधिकारियों से कहा है कि वे एमओयू पर अब तक की गई प्रगति की समीक्षा करें और सरकार को एक नई तस्वीर सौंपें।

सरकार का लक्ष्य 85 हजार करोड़ का निवेश

एमओयू की समीक्षा के साथ, हिम प्रोग्रेस पोर्टल की भी समीक्षा की जाएगी। उद्योग मंत्री बिक्रम ठाकुर ने कहा कि सरकार ने इन्वेस्टर मीट की पूरी तैयारी कर ली है। इन्वेस्टर मीट को सफल बनाने के लिए देश और विदेश में रोड शो किए गए हैं। हिमाचल में निवेश को लेकर उद्यमियाँ काफी उत्साहित हैं। अब तक इन्वेस्टर मीट के लिए 22 हजार करोड़ से अधिक के निवेश प्रस्ताव आ चुके हैं। सरकार का लक्ष्य 85 हजार करोड़ के निवेश प्रस्ताव हैं।


ये भी पढ़ें :

निवेश की प्रक्रिया सरल बनी

राज्य में बद्दी, बरोटीवाला, नालागढ़ के अलावा, नव विकसित औद्योगिक क्षेत्रों कंडोरडी और पंडुगा के अलावा, चंदौर में उद्योगों के लिए भूमि उपलब्ध है।इसके अलावा, कई लोगों ने सरकार के सामने उद्योग लगाने के लिए सरकार को निजी जमीन देने का भी प्रस्ताव दिया है। जाहिर है कि निवेशकों को प्रदेश में उद्योग लगाने के लिए भूमि की कमी नहीं होगी। निवेशकों को आकर्षित करने के लिए, सरकार ने उद्योगों को कई रियायतें देने का फैसला किया है।निवेश की प्रक्रिया को भी सरल बनाया गया है। ऑनलाइन आवेदन के अलावा, हिम प्रगति पोर्टल और भूमि बैंकों में उपलब्ध भूमि का विवरण निवेशकों को दिया जा रहा है।

Leave a Reply