चढ़ियार में मूंछे खड़ी रखने पर अनुसूचित जाती वाले बुजुर्ग की पिटाई, लगे सिर पर 60 टांके

मूंछें हो तो नाथूराम की तरह, ये तो आप में से बहुतों ने सुना ही होगा लेकिन क्या होगा जब ये ही मूंछें किसी की पिटाई और यहां तक की सिर फोड़ने जैसे अपराध की बजह बन जाए । ऊपर से ये समझ नहीं आता है की आज़ादी के इतने साल हो गए लेकिन अभी भी दलितों व अनुसूचित जाति से संबधित रखने वाले लोगों पर अत्याचार कब बंद होंगे ।

मेडिकल कॉलेज टांडा कांगड़ा में रेफर किया गया

जानकारी के मुताबिक हाल ही में जिला कांगड़ा के चढ़ियार क्षेत्र के तहत आने वाली ग्राम पंचायत मतियाल के गांव मतियाल कलां के बुजुर्ग निवासी फकीर चंद के साथ गत 7 जुलाई 2019 को गुलेर राणा नामक व्यक्ति ने बेरहमी से मारपीट की। इस मारपीट के बाद बुजुर्ग गंभीर रूप से घायल हो गया व बाद में घायल बुजुर्ग को चढ़ियार के ही अस्पताल ले जाया गया, प्राथमिक उपचार के बाद जख्मों को देखते हुए उसे वहां से तत्काल मेडिकल कॉलेज टांडा कांगड़ा में रेफर कर दिया गया।

सूत्रों के अनुसार पीड़ित बुजुर्ग के सिर पर गुलेर राणा ने डंडे से काफी बार प्रहार किये, जिस के चलते बुजुर्ग के सिर पर 60 टांके लगे हैं। घटना का पूरा विवरण जब तक नहीं मिला था तब तक पुलिस ने पहले केवल साधारण मारपीट की शिकायत दर्ज की थी लेकिन अब जब बुजुर्ग को होश आया तो उसके व्यान के अनुसार पुलिस ने अब मामला एटरोसिटी एक्ट के अंतर्गत पंजीकृत किया है।

15 दिन पहले जातिसूचक संबोधन के साथ दी थी धमकी

पीड़ित बुजुर्ग फकीर चंद ने अपने दिए गए व्यान में यह आरोप लगाया कि उक्त आरोपित व्यक्ति गुलेर राणा ने उसे 15 दिन पहले जातिसूचक संबोधन के साथ अपनी मूंछें नीची करने के लिए कहा था। मगर उसके वो उस को जानता नहीं था व इस बात को उसने गंभीरता से नहीं लिया इसलिए उसने इस पर गौर नहीं किया।

7 जुलाई 2019 को गुलेर राणा ने फिर से उसे मूंछें नीचे करने को कहा तो बुजुर्ग ने उसकी बात को अनसुना कर व उसकी बात को मज़ाक समझ कर अपनी मूंछों पर हाथ फेर दिया। इससे पहले की वो कुछ समझ पाता गुलेर राणा ने उस के सर पर डंडे से लगतार प्रहार करने शुरू कर दिए, गनीमत रही कि बुजुर्ग के साथ उसका पड़ोसी मदन मिन्हास भी कुछ दूरी पर था। उसने घटना को देखते हुए तत्काल बुजुर्ग के घर पर सूचना देकर लोगों को बुलाया व् लोगों के साथ मिल कर उस को छुड़वाया बाद में चढ़ियार अस्पताल पहुंचाया। बुजुर्ग की गंभीर स्थिति के कारण उसे टांडा मेडिकल कॉलेज रेफर किया गया था, डीएसपी पालमपुर अमित शर्मा ने मामले की पुष्टि की है, व मामला दर्ज़ कर छानबीन का आस्वाशन दिया है ।

Niharika Banta

Next Post

हमीरपुर - प्रशासन के खिलाफ कालेज में ए.बी.वी.पी. का धरना-प्रदर्शन

Sat Jul 13 , 2019
हिमाचल प्रदेश में जिला हमीरपुर डिग्री कालेज चकमोह में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद इकाई चकमोह ने कालेज परिसर में कालेज […]
hamirpur-abvp-college-against-administration-the-demonstration