Press "Enter" to skip to content

विधायक भत्ता बढ़ोतरी से विधायकों की छवि हो रही दागदार – सुक्खू

जब से हिमाचल सरकार द्वारा हाल ही में विधायकों के यात्रा भत्ते पर बढ़ोतरी हुयी है, तब से ही पूरे प्रदेश में इस समय वेतन-भत्तों में बढ़ोतरी का मुद्दा ही गर्माया हुआ है। इस मुद्दे पर कांग्रेस विधायक सुखविंदर सुक्खू ने भी वर्तमान भाजपा सरकार को घेरा है ।

उन्होंने कहा कि ऐसे में हिमाचल सरकार आखिरकार अपने किन मंसूबों को पूरा करने के लिए विधायकों की छवि दागदार करने पर तुली हुई है। जबकि इस मॉनसून सत्र में विधायकों के वेतन-भत्तों में कोई बढ़ोतरी नहीं की गयी।

सरकार छुपा रही है असली जानकारियां

उन्होंने कहा कि सरकार की ओर से कुछ जानकारियां छुपाई जा रही हैं और ऊपर से अभी भी पूरे मामले में गलत बयानबाजी की जा रही है। मानसून सत्र में तो सिर्फ विधायकों का यात्रा क्लेम बढ़ा है, बाद में उसकी लिमिट पहले ढाई लाख रुपये थी, जिसे चार लाख किया गया है। और ये तब क्लेम करने की स्थिति में ही मिलेगा जब हिमाचल की सीमा से बाहर कोई विधायक यात्रा पर जायेगा।

Travel allowance hike for Himachal MLAs
Travel allowance hike for Himachal MLAs

उन्होंने कहा कि यह क्लेम उसी तरह का है, जैसे सरकारी कर्मचारियों को यात्रा करने पर एलटीसी मिलती है। इसके अलावा कोई वेतन-भत्ता विधायकों का नहीं बढ़ा है, जबकि यात्रा क्लेम अधिकांश विधायक लेते ही नहीं हैं। जब ऐसा हैं तो फिर सरकार इस मुद्दे को खत्म क्यों नहीं करवा रही है।

सुक्खू ने कहा की मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को जनता के सामने स्थिति आंकड़ों के साथ स्पष्ट करनी चाहिए कि विधायकों के वेतन-भत्ते कब से नहीं बढ़े हैं। उनका स्टे्टस किसके बराबर है और उन्हें वेतन कितना मिलता है और खर्चे कितने होते हैं। ताकि जनता के सामने असलियत आये, और ये जो चरों तरफ जनता में गलत अफवाहें फ़ैल रही हैं इस से छुकारा मिले ।