बिलासपुर जिले के घुमारवीं विधानसभा क्षेत्र पंचायत सेऊ के किसानों में आजकल एक नई बात चर्चा का विषय बानी हुयी है, यहां के लोगों को किसान सम्मान निधि की राशि की अभी तक एक भी किस्त नहीं नहीं मिली है। कुछ किसानों ने आरोप लगाते हुए कहा कि उनके फार्म ऑनलाइन ही नहीं किए जा रहे हैं प्रशाशन के इस अनदेखी से वो बहुत परेशान हैं।

सेऊ पंचायत के उपप्रधान सुधीर चंदेल ने बताया कि फार्म भी नहीं हो रहे ऑनलाइन जिस की बजह से लोगों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा चलाई गई इस योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है, जिससे किसानों में रोष है।

खंड विकास अधिकारी को बता चुके हैं किसानो की समस्या

श्री चंदेल ने कहा कि उन्होंने इस बारे में अपने खंड विकास अधिकारी से बात भी की थी, तो यह जबाब आया की ये सब कार्य कृषि विभाग अंतर्गत आता है, इसलिए वो इस मामले में कुछ नहीं कर सकते । हालांकि जब इस बारे कृषि अधिकारी से बात की तो उन्होंने बात कहीं और ही घुमाते हुए कहा कि किसानों के इन फार्मों को पंचायत के ग्राम रोजगार सेवक भरेंगे तथा वो ही इनको ऑनलाइन कर सकते हैं।


श्री चंदेल ने आगे कहा की कोई भी विभाग जिम्मेवारी अपने ऊपर नहीं ले रहा जिस की बजह से किसानों के फार्म ऑनलाइन नहीं हो रहे। इस कारण लोगों को आज तक किसान सम्मान निधि की एक भी किस्त का लाभ नहीं मिल पाया है।

किसान विभागों के लगा रहे रोज़ चक्कर, पर नहीं बन रहा काम

उन्होंने कहा कि सेऊ पंचायत के किसानों में मुख्य रूप से तरसेम सिंह, गंगा राम, दलीप सिंह, दीनानाथ, सुनील कुमार, मस्त राम व शील सिंह सहित 150 के करीब किसान शामिल हैं। किसान कभी खंड विकास कार्यालय के चक्कर लगाते है तो कभी कृषि विभाग के चक्कर लगा रहे, तो कभी पंचायत के, इस तरह से सभी विभागों के चक्कर लगा लगा कर थक चुके हैं, लेकिन उनका काम फिर भी नहीं हो पा रहा है।

Author

Comments are closed.